1 week ago

    मिड डे मील

      पिछले अंक में आपने पढ़ा साधारण किसान से सफल नेता बने मंडल जी से पत्रकार के आगे अपने अतीत…
    2 weeks ago

    कल आज और कल

      गतांक में आपने पढ़ा: कभी अपनी जमीन बेचकर गुजारा करने को मजबूर मंडल जी ने अपना राजनैतिक सफर कैसे…
    2 weeks ago

    गोआनीज लेडी के भीतर की दुनिया (लफड़ा)

      अमित मनोज फणीश्वरनाथ रेणु लोक की आंचलिकता के सबसे सजग और संवेदनशील कथाकार हैं। उनका सृजनपाठक को निरन्तर स्पंदित…
    3 weeks ago

    कल आज और कल

      (अब तक आपने पढ़ा: कभी जमीन बेचकर अपना भरण-पोषण करने वाले साधारण से किसान मंडल जी राजनीति के सफर…
    3 weeks ago

    कविता निबन्ध लेखमाला भाग – 4

    छन्द   हम संक्षेप में कविता के शरीर और आत्मा का वर्णन कर चुके। अब उसके परिच्छेद का कुछ विवरण…
    4 weeks ago

    आगाज

                       यह हमारी आपकी सबकी कहानी है। इसके नायक भी हम हैं और किसी न किसी मोड़ पर स्वेच्छा से…
    4 weeks ago

    कविता निबन्ध लेखमाला भाग – 3

      भाषा आजकल हिन्दी में जितनी कविताएँ निकलती हैं, वे प्रायः ‘ खड़ी बोली ‘ की ही होती हैं। पर…
    April 9, 2022

    जमीन बिक्री है क्या !

      गंगा-कोसी के संगम के पास बसा कस्बा कुर्सेला। डायन कोसी के कटाव और प्रायः हरेक साल आने वाली बाढ़…
    March 31, 2022

    चौथेपन पायउं प्रिय ‘काया’…

      (कबहुँ नाहिं व्यापी अस माया)   मेरी प्रिय काइया को घर में देखते ही बेटे के सभी मित्र व…
    March 24, 2022

    ‘बिहार में चुनाव लड़ने’ से ‘निमकी मुखिया’ बनने तक…

      ‘मंच’ (मुम्बई-पटना-छोटका कोपा) के विजय कुमार   वह 21वीं सदी के शुरुआती दिन थे…। उन दिनों मुझे विश्वविद्यालय जाना…

    कथा संवेद

    • कथा संवेद – 20

        इस कहानी को आप कथाकार की आवाज में नीचे दिये गये…

    • कथा-संवेद – 19

        इस कहानी को आप कथाकार की आवाज में नीचे दिये गये…

    • कथा संवेद – 18

      जंगल की पगडंडी

        इस कहानी को आप कथाकार की आवाज में नीचे दिये गये…

    फणीश्वर नाथ रेणु

    Back to top button